फेसबुक ने अपना नाम क्यों बदला? फेसबुक के नाम बदलने से यूजर्स पर इसका क्या फर्क पड़ेगा

 

फेसबुक ने अपना नाम क्यों बदला? फेसबुक के नाम बदलने से यूजर्स पर इसका क्या फर्क पड़ेगा

फेसबुक ने अपना नाम क्यों बदला? फेसबुक के नाम बदलने से यूजर्स पर इसका क्या फर्क पड़ेगा
- आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताने जा रहे हैं फेसबुक ने अपना नाम क्यों बदला? फेसबुक के नाम बदलने से यूजर पर इसका क्या फर्क पड़ेगा? तो साथियों अगर आप भी जानना चाहते हैं फेसबुक ने अपना नाम क्यों बदला? तो यह आर्टिकल आखिरी तक पूरा पढ़िए।

साथियों अभी दो-तीन दिनों से एक न्यूज़ बहुत ज्यादा चर्चा में है। अगर आप टेलीविजन में न्यूज़ देखते हैं या फिर सोशल मीडिया में एक्टिव रहते हैं तो मुझे पूरा यकीन है आपने सुना होगा कि फेसबुक ने अपना नाम बदलकर नया नाम रख लिया है। यह खबर कुछ ही घंटे में पूरे फेसबुक पर आग की तरह फैल गई क्योंकि फेसबुक इस्तेमाल करने वाले एक या दो नहीं बल्कि करोड़ों लोग हैं। ऐसे में यह खबर हर फेसबुक यूजर को प्रभावित करती है।

Read More - MAC Address क्या होता है ? और किसी भी डिवाइस का मैक ऐड्रेस कैसे देखते हैं ?

जितने भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स थे या फिर जितने भी न्यूज़ चैनल है उन्होंने यह तो बता दिया कि फेसबुक का नाम बदलकर नया नाम रख लिया गया है? लेकिन किसी ने भी यह नहीं बताया कि आखिर फेसबुक ने ऐसा क्यों किया? फेसबुक ने नया नाम क्यों रखा? फेसबुक ने जो नया नाम रखा है इसका फेसबुक यूजर पर क्या फर्क पड़ेगा? इन सभी सवालों का जवाब देने के लिए हमने आज का यह आर्टिकल लिखा है जिसमें आपको आपके सभी सवालों के जवाब मिलेंगे और आपकी सारी कन्फ्यूजन दूर होगी।

फेसबुक ने अपना नया नाम क्या रखा है?

आइए साथियों सबसे पहले हम आपको यह बताते हैं कि फेसबुक ने अपना नया नाम क्या रखा है? आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि फेसबुक ने अपना नया नाम मेटा रखा है। जी हां दोस्तों अब फेसबुक को meta के नाम से जाना जाएगा।

फेसबुक ने अपना नया नाम क्यों रखा?

आइए दोस्तों अब हम आपको आपके दूसरे सबसे महत्वपूर्ण प्रश्न का जवाब देते हैं इसमें हम आपको बताने जा रहे हैं फेसबुक ने अपना नया नाम क्यों रखा? साथियों इससे पहले कि हम आपको बताएं फेसबुक ने अपना नया नाम क्यों रखा? आपको जान लेना चाहिए मेटा शब्द का मतलब क्या है? मेटा शब्द metavers शब्द से लिया गया है। आपकी जानकारी के लिए बता दूं मेटावर्ष एक प्रकार का स्पेस है। यह स्पेश लोगों के डाटा को पूरी तरह से सुरक्षित रखने के लिए डिवेलप किया गया है।

जैसा कि आपको पता है बीते कुछ महीनों में फेसबुक के ऊपर डाटा लीक को लेकर कुछ आरोप लगे थे। इन्हीं आरोपों को दूर करने के लिए और अपने यूजर्स को ज्यादा सुविधाएं और ज्यादा प्राइवेसी प्रदान करने के लिए फेसबुक में अपने पूरे सर्वर को और पूरे डाटा को बदलकर मेटावर्क स्पेस में ट्रांसफर कर दिया है। मेटा वर्क स्पेस में ट्रांसफर करने के कारण फेसबुक का नाम मेटा रखा गया है।

फेसबुक का नाम बदलने से लोगों पर क्या फर्क पड़ेगा?

आप में से बहुत से लोग सोच रहे होंगे कि आखिर फेसबुक का नाम बदलने से फेसबुक इस्तेमाल करने वाले लोगों पर इसका क्या फर्क पड़ेगा? आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि फेसबुक का नाम बदलने से लोगों पर कुछ ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा? फेसबुक का इंटरफेस और लैंग्वेज वैसी ही रहेगी जैसी पहले थी। बस इसका सरवर थोड़ा सा चेंज हो जाएगा। जब आप अपने फेसबुक में अवतार क्रिएट करेंगे गाना सुनेंगे या फिर वीडियो प्ले करेंगे वीडियो स्ट्रीमिंग करेंगे तो इसमें आपको ज्यादा सुविधा रहेगी। अभी तक फेसबुक में हम ऑडियो अपलोड नहीं कर सकते थे लेकिन अब आप कमेंट सेशन में जाकर ऑडियो भी अपलोड कर सकते हैं।

निष्कर्ष

तो साथियों यह आज आपके लिए एक छोटी सी जानकारी थी। आज इस आर्टिकल में हमने आपको बताया फेसबुक में अपना नाम क्यों बदला? फेसबुक का नया नाम क्या है? आशा करता हूं यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ